July 19, 2024

लोह पुरुष , सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती ” राष्ट्रीय एकता दिवस ” के अवसर पर, सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन

0

आज दिनांक 31 अक्टूबर 2023 को ” हम हिंदुस्तानी ट्रस्ट ” की तरफ से भारत के महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, भूतपूर्व गृहमंत्री ,आज के भारत के स्वरूप को गढ़ने वाले लोह पुरुष , सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती ” राष्ट्रीय एकता दिवस ” के अवसर पर, सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन ,माँ गुजराती पीजी कॉलेज चोरावनपुर , बक्सा , जौनपुर में आयोजित किया गया ।

कार्यक्रम का संयोजन अश्वनी कुमार यादव तथा कार्यक्रम के अध्यक्षता डॉ ० इंद्र कुमार सिंह के द्वारा किया गया ।

कार्यक्रम को बेहतरीन तरीके से संपन्न कराने में अग्रणी भूमिका महाविद्यालय के प्रबंधक सूर्य प्रकाश जी की रही जिनके सहयोग के कारण इस सांस्कृतिक कार्यक्रम का सकुशल संपादन किया गया । कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर इंद्रभान यादव जी ने किया ।

इस अवसर पर सभी वक्ताओं ने सरदार वल्लभभाई पटेल के आजादी के आंदोलन में योगदान तथा आजादी के बाद भारत के एकीकरण के उनके कार्यों के बारे में अपने-अपने विचार रखें । कार्यक्रम संयोजक का अश्वनी कुमार यादव ने बताया कि राष्ट्र निर्माण और एकीकरण का सरदार वल्लभभाई का पटेल का प्रयास अभी अधूरा है , क्योंकि आज भी हमारा देश मजहब ,जाति ,क्षेत्र और लिंग भेद से ग्रसित है । आज मणिपुर के दंगों पर प्रधानमंत्री चुप्पी साथ लेते हैं और यत्र तत्र अपने भाषणों में धर्म विशेष की आलोचना करते हैं । ऐसे में हम कैसे कह सकते हैं कि हमारा देश एकजुट हो चुका है । देश मात्र कागज का एक नक्शा नहीं है , बल्कि यहां के लोगों की भावनाएं ,मजदूरों के श्रम, किसाने की मेहनत , बुद्धिजीवियों के विवेक और लोकतंत्र रक्षकों के आंदोलन का परिणाम है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी बार-बार भारत को विश्वगुरु की बनाने की बात करते हैं लेकिन देश में अभी तक मोबाइल तथा कंप्यूटर निर्माण की कोई भी स्वदेशी कंपनी स्थापित नहीं हो पाई है। वही सत्ता पक्ष के लोग दावा करते हैं कि, आज भारत वैश्विक मामलों में खुलकर हस्तक्षेप करने में सक्षम हो गया है और रूस – यूक्रेन युद्ध को कुछ समय के लिए टलवा देता है। लेकिन वास्तविकता यह है कि नरेंद्र मोदी जी और उनकी सरकार ,कतर की जेल में बंद भारत के पूर्व नौसैनिकों को जिन्हें वहाँ की अदालत ने मृत्युदंड दे दिया है और जिन्हें कई राष्ट्रीय पुरस्कारों भी प्राप्त है नहीं छुड़वा पा रहे हैं। इस अवसर पर सरदार पटेल के व्यक्तित्व और कृतित्व को आधार मानकर क्विज ,पोस्टर तथा भाषण प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया । क्विज प्रतियोगिता में काजल उपाध्याय ने प्रथम , पूनम यादव ने द्वितीय तथा शिल्पा जायसवाल ने तृतीय स्थान प्राप्त किया ।वहीं पोस्टर प्रतियोगिता में रागिनी गुप्ता ने प्रथम , खुशी मोदनवाल ने द्वितीय ,अर्पित यादव ने तृतीय तथा रितेश रितेश पांडेय ने शांत्वना पुरस्कार प्राप्त किया ।भाषण प्रतियोगिता में शिल्पा जायसवाल ने प्रथम तथा अनु यादव ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया ।इस अवसर पर महाविद्यालय के प्रबंधक श्री सूर्य प्रकाश, प्राचार्य डॉ० इंद्र कुमार सिंह तथा अध्यापकगण क्रमशः डॉक्टर इंद्रभान यादव ,डॉ संध्या सिन्हा , डॉक्टर शर्मिला यादव, डॉक्टर बबीता सिंह ,डॉक्टर स्मिता सिंह , केसरी प्रसाद यादव तथा विजय बहादुर यादव आदि लोग उपस्थित रहे और अपने विचार रखें
। इस अवसर पर जय किसान आंदोलन की तरफ से प्रवेश कुमार यादव , अमन कश्यप ,विजय प्रताप संजीव आदि लोग उपस्थित रहे । कार्यक्रम के समापन से पूर्व संयोजक अश्वनी कुमार यादव ने कहा कि हमारा और हमारे संगठन का प्रयास रहेगा की हमारे महापुरुषों की स्मृतियों को जीवंत बनाए रखने के लिए ऐसे कार्यक्रम विद्यालय ,स्कूल तथा विश्वविद्यालयों में आयोजित होते रहने चाहिए । हम इस संकल्प के साथ विदा ले रहे हैं कि आपसे पुनः मिलेंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चर्चित खबरे