July 25, 2024

कांग्रेस के शासन में सबसे ज्यादा स्थिति दलितों व आदिवासियों की खराब थी – मोदी

0

कांग्रेस के शासन में सबसे ज्यादा स्थिति दलितों व आदिवासियों की खराब थी – मोदी

सीधी में सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने महिलाओं से, किसानों से सभी से झूठ बोला है। इनके चेहरे पर असर ही नहीं होता इतनी आसानी से झूठ बोल लेते हैं। इन्होंने कहा था कर्ज माफ करेंगे। लेकिन इनका वादा झूठा निकला। मोदी सरकार जो कहती है वो कर के दिखाती है। कांग्रेस के लंबे शासन काल में सबसे बुरी स्थिति आदिवासियों और दलितों की थी। भाजपा सरकार शत्-प्रतिशत् बस्तियों को सड़क से जोड़ने के लक्ष्य के करीब है। कांग्रेस के नेता बड़ी-बड़ी बातें करते हैं, लेकिन इनके परिवार ने जब पीढ़ी-दर-पीढ़ी सरकार चलाई तब इन्हें आदिवासियों की याद नहीं आई। पीएम मोदी ने सभा को संबोधित करते हुए लोगों से पूछा कि मेरी हिन्दी ठीक है ना? मैं हिन्दी भाषी नहीं हूं।

मोदी ने कहा कि आदिवासी बजट में पांच गुना वृद्धि की गई है। भाजपा सरकार बैगा, भारिया, गोंड, सहारिया इनके लिए योजनाएं चलाई हैं। विश्वकर्मा साथियों को कांंग्रेस ने कभी नहीं पूछा भाजपा उनके लिए विशेष विश्वकर्मा योजना लेकर आई है। इस पर 13 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। आज गांव-गांव, घर-घर कह रहा है कि फिर एक बार भाजपा सरकार। मोदी ने कहा कि सीधी बीरबल की जन्मभूमि है। बुद्धिमानी, सूझबूझ, पहेलियों को हल करना यहां के हर बच्चे को विरासत में मिला है।

पीएम मोदी ने युवाओं से एक पहेली पूछी। उन्होंने कहा कि अनेक दशकों तक देश से लेकर पंचायतों तक कांग्रेस का ही शासन था। जरा सोचिए इनका पतन क्यों हुआ। ये गुत्थी सुलझाइए। क्योंकि इनका नारा था गरीब की जेब साफ और काम हाफ। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस की एक विशेषता है ये सारे काम भूल जाते हैं लेकिन एक काम कभी नहीं भूलते। ये मोदी को गाली देना कभी नहीं भूलते। सुबह शाम मोदी को गाली देते रहते हैं। अब मोदी के साथ-साथ पूरे ओबीसी समाज को गाली देते हैं। जब हमने राष्ट्रपति दलित बनाया तो उसका विरोध कांग्रेस ने किया है। कांग्रेस परिवारवाद का सबसे बड़ा प्रतीक है। यहां कांग्रेस में कपड़े फाड़ कॉम्प्टीशन चल रहा है। ये लड़ रहे हैं अपने बेटों को कांग्रेस का कब्जा मिले, इसकी लड़ाई चल रही है। ये लोग एक दूसरे के कपड़े फाड़ने के कांग्रेस को कह रहे हैं। जिनकी प्राथमिकता उनके बेटे हैं वो देश का भला कर ही नहीं सोच सकते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चर्चित खबरे