July 21, 2024

केंद्रीय मंत्री का किसानों ने किया विरोध, मंत्री सूझबूझ से किसान संतुष्ट

0

केंद्रीय मंत्री का किसानों ने किया विरोध, मंत्री सूझबूझ से किसान संतुष्ट

छतरपुर में केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार मंच से बोल रहे थे इस दौरान पंडाल में मौजूद किसानों ने तख्ती लेकर विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।

जिसके बाद मंच पर मौजूद क्षेत्रीय विधायक ने माइक हाथ मे लेकर किसानों को शांत करने को कहा और बोला कि अपनी समस्या सुनकर ही यहाँ से जायेगे उसके बाद किसानों ने प्रदर्शन खत्म किया और जब केंद्रीय मंत्री एवं क्षेत्रीय सांसद डॉ वीरेंद्र कुमार मंच से निकोटरी तो किसानों ने अपनी समस्या बताई जिसके बाद केंद्रीय मंत्री डॉ वीरेंद्र कुमार ने सभी किसानों को आश्वासन दिया कि आप लोगों की समस्या जल्द दूर की जाएगी। बता दे छतरपुर जिले के ग्राम बरेठी में एनटीपीसी के 630 मेगावाट बाले सोलर प्लांट जिसकी लागत 3200 करोड़ है जोकि 2800 एकड़ जमीन पर लगने जा रहा है जिसका शिलान्यास करने के लिए केंद्रीय मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार पहुंचे हुए थे और शिलान्यास कार्यक्रम हेतु मंच से उद्बोधन दे रहे तभी इस प्लांट के जमीन खेती करने बाले किसान अपने हाथों में तख्ती लेकर पहुंच गए और मुआवजा की मांग एवं सोलर प्लांट की जगह थर्मल पावर प्लांट की मांग करने लगे। किसानों ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि वर्ष 2011-12 में हमारी खेती की जमीन को NTPC ने अपने कब्जे में ले लिया था और मुआवजा देने की बात कही थी लेकिन अभी तक पूरा मुआवजा नहीं दिया इसके साथ ही जो वादा किया गया था कि थर्मल पावर प्लांट लगाया जाएगा तो अब उसकी जगह सोलर पावर प्लांट लगाया जा रहा है जिससे हम किसानों का कोई भी फायदा नहीं होने वाला इसके साथ ही अगर थर्मल पावर प्लांट लगता तो हम किसानों के बेटों को नौकरी मिलती,मजदूरी मिलती। लेकिन अब सोलर पावर प्लांट में कोई भी नौकरी के आसार नजर नहीं आ रहे इसी बात का विरोध हम सभी किसान तख्ती लेकर कर रहे हैं। उधर किसानों की इस समस्या को लेकर क्षेत्रीय सांसद एवं केंद्रीय मंत्री डॉ वीरेंद्र कुमार ने कहा कि किसानों की समस्या को लेकर NTPC के अधिकारियों एवं संबंधित विभाग से चर्चा करके किसानों के हित में पहल की जाएगी और निराकरण किया जाएगा।

www.khabarjagat24.com
रिपोर्ट उदय नारायण अवस्थी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चर्चित खबरे