July 25, 2024

अहंकारी भाजपा के खिलाफ न्याय की जीत: प्रमोद तिवारी

0

अहंकारी भाजपा के खिलाफ न्याय की जीत: प्रमोद तिवारी

प्रयागराज : गुजरात के चर्चित बिलकीस बानो केस पर सुप्रीम कोर्ट से आज आए फैसले को लेकर सियासत भी शुरू हो गई है।

सोमवार को सिविल लाइन्स स्थित एलगिन रोड आवास पर पत्रकारों से वार्ता के दौरान राज्यसभा में कांग्रेस के डेप्युटी लीडर प्रमोद तिवारी ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला गुजरात सरकार के मुंह पर झन्नाटेदार तमाचा है। उन्होंने सियासी निशाना साधते हुए कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद गुजरात के सीएम को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए और अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो केंद्र सरकार को उन्हें बर्खास्त कर देना चाहिए। कहा की गुजरात सरकार को अपने फैसले को लेकर पूरे देश से माफी भी मांगनी चाहिए। प्रमोद तिवारी का कहना है कि बिलकिस बानो की घटना से भारत माता और नारी जाति शर्मिंदा हुई थी। जिन अपराधियों को जेल में होना चाहिए था, सरकार ने उन्हें न सिर्फ रिहा किया था बल्कि विजय पर्व भी मनाया था। प्रमोद तिवारी ने कहा है कि वह और उनकी पार्टी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का पूरी तरह से सम्मान और स्वागत करती है। वहीं सुप्रीम फैसले को लेकर अहंकारी भाजपा के खिलाफ न्याय की जीत बताया।

इस दौरान अयोध्या राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास के बयान पर राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी ने अयोध्या राम मंदिर के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि उनका काम पूजा पाठ करना है और उन्हें वही करना चाहिए। उन्हें सियासी बयानबाजी नहीं करनी चाहिए। कांग्रेस पार्टी कभी सत्ता में नहीं आएगी, इस तरीके का बयान सिर्फ एक तानाशाह ही दे सकता है। प्रमोद तिवारी ने कहा की कांग्रेस पार्टी ने जब देश को आजाद कराया था तब बीजेपी के लोग अंग्रेजों से मिले हुए थे। महंत सत्येंद्र दास का जो काम है उन्हें उसे ही बेहतर तरीके से करना चाहिए। कांग्रेस और बीजेपी की कोई तुलना नहीं हो सकती। अयोध्या का राम मंदिर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बना है। बीजेपी का इसमें कोई रोल नहीं है। कोर्ट के आदेश पर कांग्रेस सरकार के वक्त ही अयोध्या में ताला खुला था, लेकिन कांग्रेस पार्टी ने कभी इस पर सियासत नहीं की और इसका श्रेय लेने की कोशिश नहीं की।

सीट बंटवारे और प्रियंका व राहुल के चुनाव लड़ने पर विपक्षी इंडिया गठबंधन में सीटों के बंटवारे के सवाल पर प्रमोद तिवारी ने कहा कि इस पर काम चल रहा है और जल्द ही सीटों का बंटवारा हो जाएगा। उन्होंने दोहराया कि इंडिया गठबंधन ने फैसला लिया है कि पीएम पद को लेकर चुनाव नतीजे के बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा। प्रियंका राहुल और सोनिया गांधी के लोकसभा चुनाव लड़ने के फैसले पर प्रमोद तिवारी ने कहा कि यह तीनों पार्टी के सर्वोच्च नेता हैं और इन्हें खुद ही तय करना होगा कि वह किस सीट से चुनाव लड़े। चुनाव लड़ने या ना लड़ने का फैसला भी इन्हें खुद ही लेना है। कांग्रेस परिवार उनके फैसलों का स्वागत करेगा। वाराणसी सीट पर पीएम मोदी के खिलाफ कांग्रेस या इंडिया गठबंधन की तरफ से कौन चुनाव लड़ेगा, इस बारे में समय पर फैसला लिया जाएगा, लेकिन यह जरूर तय है कि बेहद मजबूत प्रत्याशी उतारा जाएगा। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय राय के वाराणसी से चुनाव लड़ने की संभावनाओं पर प्रमोद तिवारी ने कहा कि यह उनकी इच्छा जरूर है, लेकिन इस बारे में फैसला पार्टी को करना है।

इस मौके पर: पूर्व विधयाक विजय प्रकाश, जिलाध्यक्ष सुरेश यादव, मुकुंद तिवारी, संजय तिवारी, हसीब अहमद, मनोज पासी, रईस अहमद, दिनेश सोनी साहित आदि लोग मौजूद रहें।

www.khabarjagat24.com
रिपोर्ट सहयोगी विनोद कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

चर्चित खबरे